परमेश्वर मुझ पर क्ोदित है।

आज हम उस दवचार से हटने का उपवास कर रहे हैं जो कहता है, “पर्रेश्वर ्ुझ पर रिोडधत है।”

बहुत से लोग सोचते हैं दक उनके जीवन में सब कु छ इसदलए बुरा हो रहा हैं क्योंदक परमेश्वर उन पर क्ोदित या उनके दवरूद्ध हैं। या हो सकता है आपको यह नहीं लगता दक वह आपके दवरूद्ध है, परनतु ऐसा लगता है दक वह क्ोि के कारण आपकी सहायता नहीं कर रहा है। यदि आपको प्रतीत होता है दक परमेश्वर आप पर क्ोदित है, तो आप हतोतसादहत और असवीकृ त महसूस करेंगे। आप अचछी बातों के घदटत होने की अपेषिा नहीं करेंगे।

आइए इस दवचार को बनिी बनाए। बनदी रबि का अर्त: “तलवार से जीतना है।” हम परमेश्वर की तलवार से गलत सोच को जीत लेते हैं!

आइए आज हम इसे बिलें

1. पर्रेश्वर आप सरे रिोडधत नहीं है; वह आपकरे डवर््य ्ें उतसाही है! यह कु छ ऐसा है दजसे मैंने कई वषषों पहले कहना आरमभ दकया रा जब मैंने परमेश्वर के प्रेम की खोज की री। आप इस दवचार को जब सवीकार करते हैं, तो आपके पास आतमदवश्वास, अपेषिा और रादनत होगी। मुझे कै से पता चलेगा दक यह सच है?रोदमयों 8:38-39 कहता है, “    हमें परमेश्वर के प्रेम से जो हमारे प्रभु मसीह यीरु में है, कु छ अलग नहीं कर सके गा।” आप षिमा कर दिए गए हैं, आपको प्ररे् दकया जाता है।

2. इस नए डविार को सोिें : पर्रेश्वर ्ुझ सरे उतना ही प्ररे् करता है डजतना वह ्यीशु सरे करता है। यूहनना 17:23 में, यीरु दपता से कहता है, “… और संसार जाने दक तू ही ने मुझे भेजा और जैसा तू ने मुझ से प्ेम रखा वैसा ही उनसे प्ेम रखा।” कै सी अद्ुत सचचाई है। परमेश्वर आपसे उतना ही प्रेम करता है दजतना वह यीरु से करता है!

3. वह हर स््य आपकरे बाररे ्ें बहु्ूल्य डविारों को सोिता है! भजन 139:17-18 कहता है, “मेरे दलए तो हे परमेश्वर, तेरे दवचार क्या ही बहुमूलय हैं उनकी संखया का जोड़ कै सा बड़ा हैं यदि मैं उनको दगनता तो वे बालू के दकनकों से भी अदिक िहरते! जब मैं जाग उिता हूँ, तब भी तेरे संग रहता हूँ।”

4. पर्रेश्वर नरे ्यीशु सरे जो कहा वह आपकरे डलए भी उतना ही है। “तू मेरा दप्रय पुत् है, तुझ से मैं प्रसनन हूँ।” हललेलूययाह! वह यीरु पर क्ोदित नहीं है। वह उसके दवषय में अदत उतसाही है! िीक है, 1 यूहनना 4:17 कहता है, “जैसा वह है, वैसे ही संसार में हम भी हैं।”

5. ऐसा कु छ भी नहीं है डजसरे पर्रेश्वर आपसरे दूर रख रहा है। रोदमयों 8:32 कहता है, “दजसने अपने दनज पुत् को भी न रख छोड़ा, परनतु उसे हम सब के दलए िे दिया, वह उसके सार हमें और सब कु छ क्यो न िेगा।” इस सतय में आनदनित हों।

6. आप दोर्ी नहीं हैं। रोदमयों 8:1 कहता है, “जो मसीह यीरु में हैं उन पर िणि की आज्ा नहीं   ।” परमेश्वर ने यीरु में आपके दवश्वास के कारण आपको सवीकृ दत िी है, इसदलए नहीं दक आपने सब कु छ सही दकया है। आपके दलए परमेश्वर का प्रेम दकसी भी समझौते से परे है। दयम्तयाह 31:3 कहता है दक वह आपसे अननत प्रेम रखता है। यह अटल प्रेम हैं!

इसे सोचें और इसे कहें

परमेश्वर मुझ पर क्ोदित नहीं है; वह मेरे बारे में अदत उतसाही है। वह मुझसे उतना ही प्रेम करता है दजतना यीरु से। वह प्रतयेक समय मेरे बारे में अनमोल दवचारों को करता है। मैं उसका दप्रय हूँ, और वह मेरा है! ऐसा कु छ भी नहीं है जो परमेश्वर मुझे नहीं िे रहा। उसने अपने सव्तश्ेष्ठ को भी नहीं रख छोड़ा; इसदलए वह रेष को भी बचाके नहीं रखेगा।

मैं दनदनित होने से इनकार करता हूँ। मुझे षिमा कर दिया गया है। मैं इस दवचार को असवीकार करता हूँ दक वह मुझ पर क्ोदित है या मेरे दवरूद्ध है। परमेश्वर मेरी ओर है न दक मेरे दवरूद्ध। यीरु के नाम में मेरे प्रदत उसका प्रेम न रूकने वाला है!



Categories: christianity, hindi

Tags: , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: