“मैं तनावग्सत महसूस कर रहा हूँ।”

आज हम उस दवचार से हटने का उपवास कर रहे हैं जो कहता है, “्ैं तनावग्सत ्हसूस कर रहा हूँ।”

तनाव एक सामरय्तराली मानदसकता है, दजसे हम खतम करने जा रहे हैं। यह दवचारों या आरंकाओं का एक संग्ह है जो आपके मन में तब तक रहता है जब तक वे आपके भीतर नहीं चले जाते हैं और आपकी भावनाओं, आपके सवासरय और आपके समबनिों को दनयदनत्त नहीं कर लेते।

आइए आज हम इसे बिलें

1. अपनरे शत्रु को जानें। वासतदवक रत्ु यह सोचता है दक आपको रत्ु से छु टकारा पाना है। भजन 23:5 कहता है दक वह आपके रत्रुओं के सामने आपके दलए मेज (उतसव) तैयार करता है। िबाव, समसया या बुरे समाचारों के बीच परमेश्वर का उतसव मनाना और उसकी प्ररंसा करना आरमभ करें। तब वह अपनी सामरय्त खो िेता है।

2. शाडनत का राजकु ्ार आप ्ें रहता है! (कु लुदससयों 1:27) रादनत परमेश्वर की उपदसरदत से आती है, समसयाओं की अनुपदसरदत से नहीं। इस तरय पर धयान िें दक परमेश्वर की उपदसरदत आप में और आपके सार है। यीरु ने कहा “   मैं जगत के अनत तक सिैव तुमहारे संग हूँ   ।”

3. आपका खजाना आपकी पररेशानी सरे बड़ा है। 2 कु ररदनरयों 4:6–8 में, पौलुस ने कहा, “हम चारों ओर से क्लेर तो भोगते हैं, पर संकट में नहीं पड़ते।” क्यों?क्योंदक वह जानता रा दक उसके भीतर एक खजाना है; परमेश्वर के वचन को बोलने और दसरदत को बिलने की सामरय्त है।

4. डनडश्त करें डक आप इसरे पूरा करेंगरे। अदनदश्चतता तनाव का स्ोत है। यीरु के पास रादनत री और मरकु स 4 में, वह भंयकर तूिान के बीच में भी सोया हुआ रा। कै से? क्योंदक उसने घोषणा की री, “आओ, हम उस पार चलें।” परमेश्वर के रबि दनदश्चतता को उतपनन करते हैं और दनदश्चतता तनाव को समाप्त करती है!

5. आप तनाव करे अधीन नहीं हैं; आप उससरे ऊपि हैं! आपको सवगषीय सरानों में मसीह के सार बैिाया गया है – इदिदसयों 2:1-6 जीवन को सवगषीय दृदटिकोण – परमेश्वर के दृदटिकोण से से जीएँ। आप को करेवल ऊपर हैं, नीचे नहीं(वयवसरादववरण 28:13) युद्ध पहले ही जीत दलया गया है। यीरु ने सब कु छ कर दिया है। आपकी लड़ाई बस उस पर दवश्वास करना है। और तब तनाव आपको छोड़ कर चला जाएगा।

इसे सोचें और इसे कहें

मैं तनाव की सामरय्त से मुति हूँ। मुझे तनाव से छु टकारा पाने के दलए अपनी सभी समसयाओं से छु टकारा नहीं पाना है। मेरे पास अपने रत्ुओं की उपदसरदत में एक मेज है। मुझ पर उनका कोई अदिकार नहीं है।

रादनत का राजकु मार मुझमें रहता है। मैं दनदश्चत हूँ दक मैं इसे पूरा क ँरूगा। मैं िूसरी ओर जा रहा हूँ। लड़ाई पहले से ही जीत ली गई है। यीरु ने सब कु छ कर दिया है। मेरा खजाना मेरी परेरानी से बड़ा है, और यीरु के नाम से मैं तनाव से ऊपर हूँ, और उसके अिीन नहीं हूँ!



Categories: christianity, hindi

Tags: , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: