“यह असमभव है।”

आज हम उस दवचार से हटने का उपवास कर रहे हैं जो कहता है, “्यह असमभव है।”

यीरु ने कहा, “दवश्वास करनेवाले के दलए सब कु छ हो सकता है।”

आज आपके जीवन में ऐसा क्या है दजस की आरा आपने छोड़ िी है या दजसका होना आप असमभव मानते हैं? वह चाहे जो भी हो (बस वह कानूनी रूप से सही होना चादहए!), कभी हार न मानें। कभी भी हार न मानें।

एक ईसटर के सप्ताहांत, अमेररका में एक प्रमुख राजनीदतक खबर िै ली। समाचारपत् नयूयॉक्क टाइमस ने मुझसे पूछा, “क्योंदक यह कहानी इतनी बड़ी है, तो क्या आप इसे ईसटर पर चच्त में इसके बारे में बात करेंगे?” “दनदश्चत रूप से यह एक बड़ी कहानी है,” 

मैंने उत्तर दिया, “परनतु ्ररे हुओं ्ें सरे डकसी का जी उिना और भी बड़ी बात है!” इसके पश्चात् उनहोंने पूछा दक मैं इसके बारे में दवरेष रूप से क्या कहूँगा। मैंने उत्तर दिया, “यदि एक मनुषय मरे हुए में से दिर से उिता है, तो कु छ भी समभव है!” 

तो आइए, आज इस दवचार से हटने के दलए उपवास करें जो कहता है, “्यह असमभव है।”

आइए आज हम इसे बिलें

1. प्रत्यरेक डदन पुनरुतथान करे बाररे ्ें सोिें। यह कु छ भी करने की परमेश्वर की आश्चय्तजनक सामरय्त को प्रकट करता है! हम इन दवचारों को ईसटर के दलए संभाल के रखते हैं, परनतु हमें प्तयेक समय पुनरुतरान के बारे में सोचने की आवशयकता है।यह परमेश्वर की संभावनाओं में आरा और दवश्वास को जगाता है।

2. यह सोचना या कहना बन्द करें, “मैं इस पर विश्वा स नहीं कर सकता।” नि राशावाद और सन्देहवाद ने हमारी संस्कृति को भर दिया है। हमें प्रश्न करने और सम्भावि त होने पर सन्देह करने की आदत से बाहर नि कलने की आवश्यकता है। जब आपको ऐसा प्रतीत हो कि अब कोई रास्ता नहीं है, तो स्मरण रखें कि यीशु ही मार्ग है!

3. वासतडवक स्स्या सरे डनपटें। बात यह नहीं है दक क्या परमेश्वर सहायता करेगा।बात यह हैं दक क्या हम दवश्वास करते हैं। िुटिातमाग्सत बालक का दपता यीरु के पास आया और कहने लगा, “यदि तू कु छ कर सके , तो हमारी सहायता कर  ।” यीरु ने उत्तर दिया और कहा, “यदि तू दवश्वास करे    ” िेख? बात यह नहीं है दक परमेश्वर यह कर सकता है या नहीं। बात यह है दक हम दवश्वास कर सकते हैं या नहीं। और समरण रखें दक दवश्वास परमेश्वर का वचन सुनने से आता है।

4. आप एक पहाड़ सरे बड़रे हैं। दवश्वास करें दक आपके रबि पहाड़ों को दहला सकते हैं। मत्ती 17:20 कहता है, “तो इस पहाड़ से कह सकोगे, ‘यहाँ से सरककर वहाँ चला जा’ तो वह चला जाएगा; और कोई बात तुमहारे दलए असमभव न होगी” यह तो बहुत बड़ी बात है! आप बहुत बड़े हो!

5. ऐसरे लोगों पर ध्यान दें, डजनहोंनरे असमभव को समभव डक्या है। अब्ाहम 99 साल का रा जब उसको एक पुत् हुआ। सारा 90 साल की री! मूसा ने लाल समुरि को िो भागों में बाँटा। यह सूची बढती ही जाती है। बाइबल में उन लोगों की खोज करें और अपने मन को उनकी गवादहयों से भरें। इब्ादनयों 12:1 कहता है, “इस कारण जब दक गवाहों का ऐसा बड़ा बािल हम को घेरे हुए है  ।” यदि यह उनके दलए हो सकता है, तो यह आपके दलए भी हो सकता है, और यह दनदश्चत रूप से होगा।

6. पर्रेश्वर झूि नहीं बोल सकता। इस संसार में के वल एक ही बात है जो असमभव है: परमेश्वर के दलए झूि बोलना असमभव है। परमेश्वर की प्रदतज्ाओं पर से अपने दवश्वास को खोने न िें। वह उनहें पूरा करेगा।

इसे सोचें और इसे कहें

मेरे दलए सब कु छ समभव हैं क्योंदक मैं परमेश्वर के वचन पर दवश्वास करता हूँ। उसकी सभी प्रदतज्ाएँ समभव हैं क्योंदक उसकी सभी प्रदतज्ाएँ “हाँ” में हैं; और वह झूि नहीं बोल सकता। जब कोई माग्त नहीं दिखाई िेता तब यीरु ही ्ाग्त होता हैं। दवश्वास परमेश्वर का वचन सुनने से आता है; और आज जब मैं, यीरु के नाम से परमेश्वर के वचन को बोलता हूँ तो मेरा दवश्वास है दक वह असमभव पहाड़ को भी दहला िेता है!



Categories: christianity, hindi

Tags: , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: